दादी की हॉट चुदाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम योगेश है मेरी उम्र 18 साल है मेरे हाइट 5.8फिट है और दिखने में मैं गोरा और अच्छा दिखता हूं मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता हूं और घर में है सब मुझसे बहुत प्यार करते हैं मे मेरी मम्मी और पापा को लाडला हो और सबसे ज्यादा प्यार मुझे मेरे दादी करती है
हर किसी को बचपन से ही सेक्स की इच्छा और भूक रहते है. उसी तरह मुझे भी सेक्स की बहुत ही अच्छा और है. मैं मेरे दादी मां का बहुत लाडला हु वह मुझसे बहुत प्यार करती हैं.
मेरी दादी मां का नाम सुष्मिता है उनकी उम्र 56 साल है. पर वो इतनी भी भुड़ी नहीं लगती क्योंकि उनका रंग बहुत हो गोरा है।

मैं पोर्न मूवी देखने में बहुत इंटरेस्ट रखता हूं और इसलिए मुझे में सेक्स की इच्छा बहुत रहती है. मैं बॉयज के कॉलेज में पढ़ते हो वहां पर लड़कियां नहीं है और मैंने स्कूल भी ऑल बॉयज के ही स्कूल में किया था इसलिए मेरा दूर-दूर तक से लड़कियों से संबंध नहीं था
हमारे घर में मेरी मां पापा दादी और मैं रहते हैं राम सब खुश रहते हैं जैसे-जैसे मेरी उम्र बढ़ती जा रही थी पोर्न ज्यादा देखने लगा और मुठ ज्यादा मारेगा लगा पर मुझे संतुष्टि नहीं मिल पाती थी मुझे चुत को चोदने की लालसा लग गई थी
मैंने पहली बार एक रंडी को चोदा था पर उसमें इतना भी मजा नहीं आया क्योंकि रंडियां सिर्फ चुत देती है बाकी का प्यार के लिए भी उन्हें पैसे देने पड़ते हैं और वह भाव खाती है
एक दिन मेरी मां और पप्पा किसी के शादी में गए और मैं और दादी मां घर पर ही थे हमने खाना खाया और टीवी देखने लगे बस कुछ देर टीवी देखने के बाद हम सोने गए जब मैं मेरे रूम में गया तब मुझे मेरे पापा का फोन आया की वे आज घर नहीं आने वाली यह बात बताने के लिए मैं दादी मां के पास गाया।

मेरी दादी मां साड़ी पहनती है उनकी हाइट 5.6 फुट के आस-पास है जो दिखने में थोड़ी मोटी पर बहुत दुलारी है मेरे मन में उनके प्रति संभोग की भावना कभी भी नहीं थी बस जब मैंने उन्हें बताया की मम्मी और पापा घर नही आने वाले दोनों ने मुझे अपने साथ सोने को कहा मैंने भी कहा ठीक है और मैं उनके साथ ही सो गया
रात को मुझे पोर्न देखने की आदत है और दादी के सोने के बाद पोर्न देख रहा था फोन देखने से शरीर में उत्तेजना बढ़ती है मेरा 7 इंच का ल** पूरी तरह से खड़ा हो गया मैं पूरी तरह से गर्म था मैंने सोचा कि चलो मुट्ठ मार ली जा और मैं बेड पर ही मुठ मारने लगा जब मैं झड़ने वाला था तो मैं बाथरूम में गया और वहां झड़ गए बाद में में सो गया था
सुबह में जो उठा तू दादी मां भी उठ रही थी मैंने उनसे कहा कि आप नहा लो मैं आपके लिए नाश्ता बनाता हूं तो उस तरह वो नहाने गई. मेरी दादी मां बाथरूम में थी मैं उनसे यह पूछने के लिए बाथरूम में गया कि नाश्ते में क्या बनाऊं तो मैंने देखा कि मेरी दादी मां सिर्फ ब्लाउज और पेंटी मे थी और वहां से वह टॉयलेट जाने लगी तब उसने सिर्फ ब्रा और पेंटी ही पीनी थी मैं यह देख कर अचंभित कि मैंने मेरे जादू को दादी को पहली बार ऐसा देखा और मेरा लंड खड़ा हो गया मुझे मुठ मारने की बहुत इच्छा हो रही थी मैं झड़ना चाहता था इसलिए मैंने अपनी पैंट उतारी।

मेरी दादी मां टॉयलेट में थी और मैं पूरा नंगा हो गया था मैंने सोचा की दादी मां मुझसे इतना प्यार करती है मेरे इतना ख्याल रखती है बचपन से उन्होंने मुझे खुद से जुदा नहीं होने दिया तो वह मेरा यह प्रॉब्लम तो समझ सकती हैं मैं पूरी तरह पागल सा हो गया था और अपना लंड हिलाते हुए टॉयलेट की तरह गया
मेरी दादी मां टॉयलेट का दरवाजा लगन भूल गई थी यह बात मुझे समझ में आई मैं थोड़ी देर रुका जब मुझे फ्लैश की आवाज सुनाई दी तो मैं धीरे से अंदर चला गया मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा था और मैंने देखा मेरी दादी मां का मुंह दीवार की तरफ था और उनकी पीठ मेरी तरफ थी मैंने 1 सेकंड भी देर न करते हुए।

मेरा ल** उनकी च** में डालने लगा जब मेरा ल** उनकी च** में था और जोर से चिल्लाने लगी क्योंकि उनकी उनकी च** बहुत टाइट थी मैं उस वक्त बहुत गर्म था मेरे दिल की धड़कन जोरों से धड़क रही थी मैंने दो से तीन धक्के मारे और चुत में ही झड़ गया उनको कुछ भी समझ में नहीं आया था.
जब मैं उनसे अलग हुआ तो उनके चुत में से मेरा सारा पानी नीचे गिर रहा था और वह मुझे घूर के देखने लगी मैंने पहली बार दादी को मुझ पर गुस्सा होते हुए देखा था मैं वहां से तुरंत ही बाहर गया पता नहीं दादी को कैसा लगा होगा
मैंने उनके लिए उनका मनपसंद नाश्ता बना या वह नहा कर बाहर आई और मैं भी नहाने गया जब मैं नहा कर बाहर आया थोड़ा नाश्ता कर रही थी और मुझे अनदेखा कर रही थी मैंने भी उनको थोड़ा अनदेखा किया हूं और मेरे रूम में चला गया उस बात को सोचते सोचते मेरा लंड फिर से सख्त हो गया मैंने सोचा कि दादी से माफी मांग लेता हूं अगर उन्हें कोई एतराज नहीं तो फिर से चोद लूंगा।

मैं दादी के कमरे में गया उस वक्त वह बैठी थी मैं उनके पैरों के पास जाकर बैठा और उनसे माफी मांगने लगा पर वह कुछ बोल नहीं रही थी उन्हें ऐसा देखकर मुझे बुरा लगा पर जाने क्यों मेरी चोदने की उच्च इच्छा जग रही थी मेरा ल** पहले से ही सख्त था मैंने मन ही मन में ठान लिया की दादी को अगर सुबह की बात का कोई ऐतराज होता तो वह मुझसे जरूर कहती। मैंने अपने सारे कपड़े उनके सामने उतार दिए और अपना ल** उनके मुंह में डालने लगा पता नहीं किस वह मेरा लोन लैंड जोरों से चूसने लगी शायद उन्हें मजा आ रहा था वह मेरा नाम 10 मिनट तक चूसते रहे मेरे मुंह से आहा की आवाजें निकल रही थी 10 मिनट बाद मैं उनके मुंह में ही झड़ गया और उन्होंने सारा पानी मुझे दिखा कर पीलिया और फिर से मेरा लंड चूसने लगी और मुझे पता था क्या दादी मां को चोदवाना है 2 मिनट बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया लंड चूसते चूसते दादी मां ने मेरी गांड पर भी जीप डाली थी जिससे मुझे बहुत अच्छा लगा और मुझ में और उत्तेजना बड़ी।

मेरी दादी की चुत चाटना मुझे बहुत अजीब लग रहा था इसलिए मैंने उनकी चुत चाटे बिना उनको चोदने का फैसला किया और उन्हें बेड पर लिटाया मैं उन्हें मिशनरी पोजीशन में चोदने वाला था उन्होंने खुद ही अपनी साड़ी ऊपर करी और पैंटी को उतार कर मुझे चोदने का आमंत्रण देने लगी मैं भी जोश के साथ था
इस बीच उन्होंने मुझसे कुछ भी ना कहा मैंने भी कुछ भी ना कहा बस जुदाई का कनेक्शन जोड़ने लगा मैंने धीरे धीरे से अपना 7 इंच का सख्त प्लांट लैंड उनकी चुत में डाल दिया इस बार उन्हें बहुत मजा आ रहा था वह जोर जोरों से चिल्ला रही थी उछल रही थी क्योंकि उनकी चुत बहुत टाइट थी मुझे भी उन्हें चोदने में बहुत जोर लगाना पड़ रहा था हमारे बीच कोई भी बात ही नहीं हो रही थी उनके मुंह से बस
“आहा “ओहो’” आई ”
“ऊऊऊ अअअअअ”
जैसी आवाजें निकल रही थी और वह मेरा साथ दे रही थी. उन्होंने मेरे हाथों को कस के पकड़ रखा था मुझे थकान महसूस हो रही थी मेरा स्पीड थोड़ा धीमा हो गया था।

फिर उन्होंने अपने हाथों को मेरी गांड पर रखा और मुझे शॉट मारने में मदद करने लगी हमारा दोनों का कनेक्शन बहुत अच्छा हो रहा था उनकी च** पूरी तरह से गर्म हो रही थी उनका शरीर गर्म था उनकी सांसें बहुत तेज थी मेरे भी यही हालत थी
उनकी टाइट चुत को चोदते चोदते मैं थक गया था और मैं बेड पर लेट गया और दादी मां मुझ पर छोड़ गई उन्होंने अपने हाथों से मेरा लंड उनकी जीत में डाला और उछलने लगी सिसकियां भरने लगी शायद ऐसा मजा उन्होंने पहले कभी ना लिया हो.
उनके मुंह से
” आहहहह उहहहहहह”
“ससससससस ”
जैसी आवाजें निकल रही थी मैंने अपने मुंह पर अपना हाथ रख दिया था और उनका साथ देने के लिए मैं भी उछलने लगा हम दोनों के गर्म शरीर से एक दूसरे को बहुत ज्यादा सुख भी प्राप्ति हो रही थी और ऐसा सुख मैंने कभी भी नहीं महसूस किया था मैं।

यह कहानी आप Desistorynew.com में पढ़ रहें हैं।
बाद में वह भी थक गई और वह भी मेरी तरह बेड पर लेट गई . अब मैंने उठकर उन्हें डॉगी पोजिशन में बैठा दिया और उनकी च** पर थोड़ा तेल डालकर उन्हें फिर से चोदने लगा उनके मुंह से आह की आवाज निकल रही थी मेरा ल** बहुत सख्त था
मेरा ल** झरने का नाम नहीं ले रहा था डॉगी पोजिशन में ही मैंने अपना ल** थोड़ा बाहर निकालो और बहुत जोर से उनके गांड में डाल दिया वह बहुत जोर से चिल्ला उठी और वह नीचे बेड पर लेट गई मैं डर गया था पर उन्होंने मुझसे कहा।

बहुत जोर से करना और रुकना बिल्कुल भी मत और मैं समझ गया कि अन्य अपनी गांड मरवाने है मैंने थोड़ा पानी पिया और अपनी पूरी ताकत लगा कर उनकी गांड मारने लगा मैं पहले से ही भगाया था थक गया था पर भी मैं उनकी गांड जोर से मार रहा था उनकी गांड बहुत टाइट थी मैं अब झड़ने वाला था ना जी को मैंने कहा था कि मैं बहुत गरीब हूं गरीब हूं करीब उल्टी और मुझे अपनी और खींचा और मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया और जोर से चूसने लगी मैं उनके मुंह में झड़ने वाला था वह जोरो जोरो से मेरा लंड चूस रही थी और मेरे मुंह से
आहा आहा की ओहो की आवाज निकल रही थी
और मैं उनके मुंह में ही जुड़ गया उन्होंने मेरा सारा पानी पीलिया और मेरा लंड साफ करने लगी मुझे बहुत मजा आया था।

दादी मां ने मुझसे कहा की यह बात और पापा को बताएगी मेरे पैरों तले जमीन खिसक गई मैंने उसे कहा क्यों
“उन्होंने कहा कि मेरी चुत कौन चाटेगा ”
फिर मैं हंसते हंसते हुए मजबूरी में उनकी चूत चाटने लगा उनके छत पर बहुत बाल से और वह सिसकिया भर रही थी अचानक वह पलट गई उन्होंने मुझसे कहा
‘कि मेरी गांड भी चाटो’
मुझे यह सब बहुत गंदा लग रहा था पर मुझे यह सब करना पड़ रहा था पाठ 10 मिनट तक उनकी चुत और गांड चाटने के बाद उन्होंने मुझे रोका.
मेरा लंड पूरा खड़ा हुआ था पर मैं चोदने के लिए पूरी तरह से थक गया था तो मैंने दादी से कहा कि
” आप भी मेरा लंड चुसो.”
और वह मेरा लगी चूसने लगी और कहने लगी.
“यह सब बहुत अच्छा था पर मैं तुम्हारी दादी मां और बूढ़ी भी हो गई तो दोबारा ऐसी हरकत बिल्कुल मत करना मैं तुम्हें मुझे चोदते हुए नहीं देख सकते तुम मेरे लाडले हो इसलिए तुम्हें मैं इस बार माफ कर देती हूं
माना कि मुझे भी मजा आया पर यह सब गलत है और बस एक ही बार और आखरी बार था”
मैंने भी उनसे कहा।

” मैं आपसे वादा करता हूं की ऐसी हरकत दोबारा कभी नहीं होगी हम पहले जैसे ही प्यार से रहेंगे”
वो मुस्कुराई पर मेरा लंड उनके मुंह में ही था
और वह से दोनों से हिलाने लगी मैंने उनसे कहा कि मैं अब झड़ने वाला हूं उन्होंने कुछ भी ना कहा बस मेरा लंड हिलाती रही मैंने उसे कहा कि
मैं मेरा पानी आपके चेहरे पर डालना चाहता हूं फिर क्या वह पलटी और मैं उनके ऊपर था मैं उनके मुंह में जोर जोर से शॉर्ट मार रहा था और मैं जब झड़ गया तो सारा पानी उनके चेहरे पर डाल दिए बाद में उन्होंने मुझे अपने कमरे में जाने को कहा
बस उसके बाद ना ही कभी हमने चुदाई की और ना ही इसके बारे में कभी सोचा.

This Post Has One Comment

  1. Garm Dudh

    Madarchod meri sexy chutmarani dadi ne pure ghar ko randikhana bna diya hey

Leave a Reply to Garm Dudh Cancel reply